150 Years of Celebrating The Mahatma

Shivpuri

e/;izns”k jkT; ds Xokfy;j laHkkx ds vUrxZr f”koiqjh ftyk vius ,sfrgkfld egRo ds lkFk&lkFk e/;izns”k jkT; ds i;ZVd LFkyksa esa ls ,d n'kZuh; i;ZVd LFky ds :i esa Hkh tkuk tkrk gSA f'koiqjh ftys ds ,sfrgkfld i`"Bksa esa e/;dkyhu Hkkjrh; bfrgkl ls izkjEHk djrs gq,] vk/kqfud dky ds fofHkUu pj.kksa esa gq, rRdkyhu jktuSfrd] lkekftd] lkaLd`frd ,oa /kkfeZd mrkj&p<+ko ds y{k.k n`f"Vxkspj gksrs gSaA

 

;g ekuk tkrk gS fd f'koiqjh ftys dk uke Hkxoku ^^f'ko 'kadj^^ ds milxZ f'ko ls fy;k x;k gSA ftyk f”koiqjh ds varxZr djSjk] dksykjl] iksgjh] fiNksj ,oa [kfu;k/kkuk U;k;ky;hu fodkl[k.M rFkk ujoj ,oa cnjokl mifodkl[k.M lfEefyr gSa A mi fodkl[k.M ujoj ftldk dkQh ,sfrgkfld egRo gS k f”koiqjh dk ek/ko jk’Vªh; m|ku vkd’kZd i;ZVd LFky gSA

 

ftyk ,oa l= U;k;ky; Hkou dk mn~?kkVu eku~uh; U;k;ewfrZ Jh ,u-ds- flag U;k;kf/kifr e-iz- mPp U;k;ky; ds dj deyksa }kjk ,oa eku~uh; Jh f”koizrki flag jkT; ea=h i”kq /ku ,oa Ms;jh foHkkx e-iz- “kklu dh v/;{krk esa fnukad 10-05-1987 dks lEiUu gqvkA

 

जिले के भगवान " शिव " से अपने नाम निकला है . यह नाम ' SIPRI ' से पहले जाना जाता था . शिवपुरी जगह पहले सम्राट अकबर ने इस जगह पर रोक दिया है करने के लिए कहा गया है जब 1564 में मुगल काल के दौरान एक उल्लेख पाया . उस अवधि के दौरान यह Narwar सरकार का एक हिस्सा बनाया है . Narwar या Narbar शिवपुरी , जिला मुख्यालय से 43 किलोमीटर की दूरी पर स्थित 1991 की जनगणना के अनुसार 6745 व्यक्तियों की आबादी के साथ एक तहसील है . इसके पीछे एक बहुत बड़ा प्राचीन किले और इतिहास का खजाना है . अपने मुख्यालय के शिवपुरी में किया गया था , हालांकि जिला , ग्वालियर स्टेट के समय के दौरान Narwar जिले के रूप में जाना जाता था . यह सिंधिया के द्वारा लिया गया था जब शिवपुरी 1804 तक Kachhawaha राजपूतों के साथ बने रहे . यह 1817 में अंग्रेजी से कब्जा कर लिया है, लेकिन सिंधिया के अगले साल के लिए लौट आए और यह तब से ग्वालियर राज्य का एक हिस्सा बनने के लिए जारी किया गया था . 1859 में यह महान भारतीय नेता तात्या टोपे वर्तमान कलेक्ट्रेट के पास फांसी पर लटका दिया गया था कि कहा जाता है . महाराजा माधव राव सिंधिया शिवपुरी के विकास की ओर अधिक ध्यान दिया . वह एक बड़े महल का निर्माण किया है और यह भी शहर का विकास किया. यह ग्वालियर राज्य और सरकारी कार्यालयों की ग्रीष्मकालीन राजधानी गर्मियों के महीनों में यहां स्थानांतरित कर दिया गया था . शिवपुरी तत्कालीन मध्य भारत में एक जिले के रूप में गठन किया और 1951 के बाद से व्यावहारिक रूप से कोई परिवर्तन नहीं के साथ के रूप में इस तरह के जारी किया गया था .

 

f'koiqjh ftyk e/; izns”k jkT; ds avarxZr vkrk gS A ftyk eq[;ky; f”koiqjh ds varxZr djSjk] dksykjl] iksgjh] fiNksj] ,oa [kfu;k/kkuk U;k;ky;hu fodkl[k.M vkrs gSA ftyk f”koiqjh dk mi fodkl[k.M ujoj gS ftldk dkQh ,sfrgkfld egRo gS A ujoj ds iwoZ esa dkyh fla/k unh cgrh gSa A ftyk eq[;ky; f”koiqjh dks ek/ko jk’Vh; m|ku ds dkj.k Hkh tkuk tkrk gS A tks fd ?kus taxy ?kkl ds eSnku vkSj >hy ds fy;s izfl) gS A lkD; lkxj vkSj ek/ko lkxj >hy efu;j unh ij lu 1918 esa cuh tks fd blh jk’Vh; m|ku das varxZr vkrh gSA lSfyax Dyc ,d izfl) vkd’kZd i;ZVd LFky gS lkD; lkxj >hy ds fdukjs cuk gqvk gS A

 

ftyk ,oa l= U;k;ky; Hkou dk mn~?kkVu eku~uh; U;k;ewfrZ Jh ,u-ds- flag U;k;k/kh”k e-iz- mPp U;k;ky; ds dj deyksa }kjk ,oa eku~uh; Jh f”koizrki flag jkT; ea=h i”kq /ku ,oa Ms;jh foHkkx e-iz- “kklu dh v/;{krk esa fnukad 10-05-1987 rn~uqlkj oS”kk[k “kqDy 12 lEcr~ 2044 dks lEiUu gqvkA